Bacho Se Pyaar Karne Wali Chudail

0

Mein apko ek chudail ki kahani batane wala hu aur Mera name Vipul Kumar hai aur Aaj jo aapko story batane wala hu wo mere ek uncle ka hai.

मैं आपको एक चुड़ैल की कहानी बताने वाला हूँ और मेरा नाम विपुल कुमार है। आज जो आपको कहानी बताने वाला हूँ वो मेरे एक अंकल का है।

Bacho Se Pyaar Karne Wali Chudail
Bacho Se Pyaar Karne Wali Chudail

Humare ghar par iss diwali mein relative aaye huye the jinme mere kisi dur ke ristedaar thee jo mere rishte mein Uncle lagt the aur unka umra 35 years hai aur unke sath Unki wife yaani meri Aunty aur unke 2 bete the jo mere Brother the.Unke 2 bete 5 ya 6 saal ke the aur dono mein 1 saal ka antar thaa.

हमारे घर पर इस दिवाली में रिलेटिव आये हुए थे जिनमे मेरे किसी दूर के रिस्तेदार थी जो मेरे रिश्ते में अंकल लागत थे और उनका उमरा ३५ इयर्स है और उनके साथ उनकी पत्नी यानी मेरी आंटी और उनके २ बेटे थे जो मेरे  भाई  थे।उनके २  बेटे  ५ या ६ साल के थे और दोनों में १ साल का अंतर था।

Hum sabne din bhar bahut hi masti ki aur raat ko mein uncle ke sath bethaa thaa toh wuhi mene keh diya ki uncle aap ek darawni story sunyae toh uncle ne kaha ki thik hai chal mein ek story sunata hu jo mere bachpan ki hai tab mein kareeb 4 saal ka thaa aur mein din bhar khelta, sota thaa aur khaa pikar moj karta thaa toh uss waqt hun gaw mein rehte thee aur tab light nahi thi toh wuhi ek raat mein soya thaa aur mein nind se utha toh mujhe koi lady dikhi jo mere maa jaisi dikh rahi thi.

Related Post

हम सबने दिन भर बहुत ही मस्ती की और रात को में अंकल के साथ बैठा था तो वही मैने कह दिया की अंकल आप एक डरावनी स्टोरी सुनाएं तो अंकल ने कहा की ठीक है चल में एक स्टोरी सुनाता हूँ जो मेरे बचपन की है तब में करीब ४ साल का था और में दिन भर खेलता, सोता था और खा पीकर मौज करता था तो उस वक़्त हम गांव में रहते थे और तब लाइट नहीं थी तो वही एक रात में सोया था और मैं नींद से उठा तो मुझे कोई लेडी दिखी जो मेरे माँ जैसी दिख रही थी।

Meine utha aur unka haath pakda aur ghar ke bahar chal diya tabhi meri maa ki najar mujh par padi toh unhone mere papa ko awaaj diya aur papa ke sath daur kar mere paas ayee aur woh jo lady thii jiska hath pakad kar mein jaa raha thaa woh lady toh gayab ho chuki thi aur mere maa aur papa mujhe pakad kar rone lage aur mein bhi rone laga.

मैंने उठा और उनका हाथ पकड़ा और घर के बाहर चल दिया तभी मेरी माँ की नजर मुझ पर पड़ी तो उन्होंने मेरे पापा को आवाज दिया और पापा के साथ दौड़ कर मेरे पास आई और वह जो लेडी थी जिसका हाथ पकड़ कर में जा रहा था वह लेडी तो गायब हो चुकी थी और मेरे माँ और पापा मुझे पकड़ कर रोने लगे और मैं भी रोने लाग।

Uncle ne kaha ki Vipul tumhe story kaisa laga mene toh kaha story toh bahut hi achi thi but aap toh bahut chote thee toh apko yeh sab kaise pata toh uncle ne kaha ki yeh sab mere maa ne mujhe bataya aur uncle ne kaha ki woh lady ek chudail thi jo uss jagah par ghumti thi aur kabhi bhi kisi ka nuksaan nahi pahuchati thi bas usko bache bahut pasand thee isliye woh bacho se khelti thi.

अंकल ने कहा की विपुल तुम्हे स्टोरी कैसा लगा मैने तो कहा स्टोरी तो बहुत ही अच्छा था पर आप तो बहुत छोटे थे तो आपको यह सब कैसे पता तो अंकल ने कहा की यह सब मेरे माँ ने मुझे बताया और अंकल ने कहा की वह लेडी एक चुड़ैल थी जो उस जगह पर घूमती थी और कभी भी किसी का नुक्सान नहीं पहुंचाती थी बस उसको बच्चे बहुत पसंद थे इसलिए वह बच्चो से खेलती थी।

Uncle dwara yeh story sunn mujhe thoda sa darr laga aur ab humare uncle humare city par rehte hai.

अंकल द्वारा यह स्टोरी सुन् मुझे थोड़ा सा डर लगा और अब हमारे अंकल हमारे सिटी पर रहते है।

Agar aapko story pasand aaye toh share jarur kare aur aapko story kaisi lagi aap woh comment karke mujhe bataye.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here