दार्जिलिंग से लेकर शादी तक की प्यारी सी प्रेम कहानी

1

मेरा नाम प्रियंका है और अब मेरी शादी हो चुकी है वैसे मैंने love marraige ही किया है और इस love story में बहुत सारे twist भी है वैसे मेरे पति के साथ मेरी शादी कैसे हुई इसके पीछे एक बहुत ही लंबी कहानी है तो मैं आपको हमारी प्रेम कहानी short में बताउंगी।

Darjeeling Se Lekar Shaadi Tak Ki Cute Love Story

मेरी शादी हुए तो 1 साल हुए है और मैं अपनी निजी जिंदगी में काफी ब्यस्त हु लेकिन मैंने आज थोड़ा-सा वक़्त निकाल कर मेरी प्यार की कहानी आप सबसे शेयर कर रहा हु तो अब कहानी शूरु करते है।

कुछ सालों पहले हम कुछ दोस्त मिलकर 7 दिन के लिए एक tour पर गए थे जिसमें हम 4 लड़के और 4 लड़कियां थे। हम सब मिलकर दार्जिलिंग घूमने गए और वहाँ पर हमने चार कमरे भी book किए। हम सारे दोस्त एक दुसरे को अच्छे से ही जानते थे क्योंकि हम सब एक साथ स्कूल में ही पढ़ते थे।

वहा पर हमने हमने बहुत मजे किए और चार दिन यूही गुज़र गए और पाँचवे दिन हम सबने मिलकर दार्जिलिंग के चाय के बागानों में जाने के फैसला किया और हम सब एक बस में बैठ कर उन घुमावदार पहाड़ियों पर पहुँचे जहा पर चाय के बड़े-बड़े बागान थे। यह नजारा बस में बैठ कर ही इतना सुंदर दिख रहा था कि मैं यहाँ पर लिख कर ब्यान नही कर सकती हूं।

बस से उतरने के बाद हमें थोड़ी दूर तक चलना पड़ा और हम उस सुंदर चाय के बागानों में पहुच गए और वहाँ पर पहुँचते ही मेरे 3 दोस्त चाय बागान के बहुत अंदर तक चले गए और मैं अकेली रह गईं। मैं भी वहाँ पर घूमने लगी और जब मेरा मन भर गया तब मैं अपने दोस्तों को ढूंढने लगी तभी मेरी नजर हमारे साथ आए हुए एक लड़के पर पड़ी और मैं उसके पास जाने लगी तभी मेरे पैर में मोच आह गई और मैं वही नीचे गिर गई।

तभी वह लड़का मुझे उठाने आया और उठाने लगा लेकिन मैं उठ नही पा रही थी तो उसने मुझे अपनी गोद मे उठा लिया और मुझे उठाकर एक चट्टान के पास ले गया और वहा पर बैठाया तभी उसने मेरे पैरों को उठा कर देखने लगा और कहने लगा आपको किस पैर में चोट लगी है तो मैंने बताया कि मेरे right पैर में मोच आई है तब उस लड़के ने अपने पॉकेट से एक छोटा-सा बोतल निकाला और मेरे पैर पर स्प्रे करने लगा जिससे मेरे पैर का दर्द कम हो गया।

कुछ देर बाद हमारे साथ आए हुए सभी लोग आह गए और वह बस में बैठने चले गए और मैं भी उठ कर बस में जाने लगीं तो मैं चल नही पा रही थी तो उस लड़के ने मुझे उठाकर बस में बैठाया और मुझे बस से भी उतारा और मेरे कमरे तक भी छोड़ दिया। फिर कमरे में पहुँच कर मैंने उसको Thank You कहा और उस लड़के ने welcome कह कर अपने कमरे में जाने लगा तो मैंने ही उसे रोक दिया और उस लड़के से कहा की मुझे जरा washroom जाने में मदद करो उसने मुझे सहारा देकर washroom ले गया और बाहर खड़ा रहा और फिर मुझे वापस मेरे bed तक ले आया।

फिर वह अपने कमरे में चला गया और मैं सो गई फिर एक दम सुबह उठी और बड़ी मुश्किल से मैं fresh होकर आई और वह लड़का मेरे पास आया और मुझे कहने लगा आपके पैर में दर्द कैसा है मैंने कहा ठीक है फिलहाल और उसने मझे मूव का स्प्रे दिया और मेरे लिए सुबह का नाश्ता भी ला दिया। मैंने नास्ता किया और हम दोनों बातें करने लगे।

बातों ही बातों में उस लड़के ने मुझे कहा कि मैं आपको स्कूल के समय से पसन्द करता हु पर मैं आपको कभी बोल नही पाया पर आज आपसे दिल की बात कह दी इसपर मैंने उसको कहा की मैंने कभी इसके बारे में सोचा नही है पर हम कुछ समय तक एक दूसरे से मिलते है अगर तुम मुझे पसंद यह गए तो मैं तुम्हारा प्यार स्वीकार कर लुंगी। इसके बाद हम सारे दोस्त tour से घर यह गए।

मैं उस लड़के से कुछ समय तक मिली और मैंने उसका प्यार भी स्वीकार कर लिया और उससे शादी भी कर लिया और उस लड़के का नाम यानि की मेरे पति का नाम राज है।

Read More Story

आशा करती हूं कि आपको मेरी यह प्रेम कहानी अच्छी लगी होगी तो इस love story को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here