Ek Darawni Kahani Aisi Bhi – Bhoot Ki Kahani

0

मेरा नाम दीप साहा है। मेरे साथ कुछ महीने पहले एक Bhoot की घटना घटित हो चुका है। यह Bhoot Ki Kahani बहुत ही दिलचस्प है और पूरी तरह सच है। इस घटना के घटित होने से मैं बहुत ही ज्यादा डर गया था। इस घटना को याद करके मैं आज भी बहुत ही डर जाता हूं।

Ek Darawni Kahani Aisi Bhi – Bhoot Ki Kahani

एक रात घर पर कोई नहीं था मैं अकेला ही था और मैं अपने कंप्यूटर पर कुछ वीडियोस देख रहा था, तभी मेरे पास रखी टेबल की कुछ किताबें अचानक ही गिर गई। मैंने उन किताबों को उठाकर दोबारा से रख दिया। तभी मैंने मोबाइल पर टाइम देखा रात के 10:30 हो रहे थे।

मैंने अपना कंप्यूटर बंद किया और सोने चला गया, जैसे ही मैं बेड पर लेटा सोने के लिए तभी अचानक से लाइट चली गई। लाइट तो चली गई थी पर मैंने सोचा कि कुछ देर में आ ही जाएगा और मैं सो रहा था तो उठने का मन नहीं किया। कुछ देर बाद मुझे अपने कमरे पर कुछ आवाजें आने लगी, मानो ऐसा लग रहा था कि तेज हवाएं चल रही है।

कुछ देर बाद मैं सो गया और जब मेरी नींद खुली तब मैंने अपने बेड के बगल में एक भयानक शक्ल वाला आदमी देखा। मैं नींद में था तो सो गया और फिर अचानक से भयानक नजारा याद आया और मैंने अचानक से आंखें खोली। तब मेरे बेड के बगल में कोई नहीं था। थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि कोई मेरी चादर खींच रहा है।

अब मुझे पूरा यकीन हो गया था कि कोई आत्मा है यहां पर, मैं बहुत डर गया था और मैंने अपनी आंखें बंद कर ली। कुछ देर बाद वह भयानक आवाज फिर से आनी शुरू हो गई।

मैंने हिम्मत जुटाकर जोर से चिल्लाकर का कौन है? जो इस तरह की आवाजें निकाल रहा है। तभी आवाज आनी बंद हो गई। अचानक से वह आत्मा मेरे आंखों के सामने मेरे आंखों के सामने आ गई और इतना भयानक नजारा देख मैं बेहोश हो गया। सुबह जब मैं उठा तब मैंने देखा कि जो कपड़े मैंने पहने हैं वह सारे फटे हुए हैं।

मेरे पैर पर दो जगह खरोचे हुए थे। अगले दिन मम्मी-पापा आ गए और मैंने सारी बात उन्हें बता दी। वे दोनों मेरी बात सुनकर विश्वास तो नहीं किए पर जब मैंने अपने पैर पर खरोंचे हुए निशान दिखाएं और फटे कपड़े दिखाएं तब उनको मेरी बातों पर थोड़ा थोड़ा विश्वास हुआ।

उस दिन मैंने अपने एक दोस्त को सारी बातें बताई और उसने तुरंत ही मुझे एक आदमी से मिलाया। वह आदमी कोई तांत्रिक था और उसको मैंने अपने साथ बीती घटना बताई। तब उसने बताया कि तुम्हारा घर एक कब्रिस्तान के ऊपर बना हुआ है और उस कब्रिस्तान कि आत्मा ने ही तुम्हारे घर में घुसकर तुम्हें परेशान किया था । मैं यह बात सुनकर बहुत ही डर गया। मैंने उस तांत्रिक से उपाय के बारे में पूछा।

उन्होंने मुझे एक पोटली दी और कहा कि इसे घर के उस कोने पर बांधना जहां सब की नजर ना पड़े। उन्होंने इस पोटली के बदले अच्छी खासी रकम भी वसूला। जैसा उस तांत्रिक ने बताया वैसा ही मैंने किया। उस दिन के बाद आज तक मुझे कोई आत्मा मेरे घर पर नहीं दिखी।

तो आप सबको मेरी Bhoot Ki Kahani कैसी लगी जरूर बताएं।

यदि आपको यह कहानी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें।

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here