Mere Sath Ghatit Huya Bhootiya Ghatna – Bhoot Ki Kahani

0

मेरा नाम राम प्रसाद है। मेरे साथ एक Bhootiya Ghatna घटित हुआ जो 4 साल पहले की है। यह Bhoot Ki Kahani पूरी तरह से सच है और मैं आप सबको वह घटना बताने जा रहा हूं। आप इस कहानी का आनंद लें और ज्यादा डरने की कोशिश बिल्कुल भी ना करें।

Mere Sath Ghatit Huya Bhootiya Ghatna - Bhoot Ki Kahani
Mere Sath Ghatit Huya Bhootiya Ghatna – Bhoot Ki Kahani

एक रात मैं अपने दोस्त के पार्टी से लौट रहा था अपने मोटरसाइकिल से तो करीब रात के 1:00 बज रहे थे। मैं एक सुनसान रोड पर पहुंचा तब मैंने एक महिला को देखा सड़क के किनारे उसने मुझे रोकाया और और मैंने अपना मोटरसाइकिल वही रोक दिया।

वह महिला मुझसे कहने लगी कि मुझे आगे तक छोड़ दे। मुझे यह बात बहुत ही अच्छी सी लड़कियों की रात के 1:00 बज रहे थे यार कोई महिला सड़क के किनारे अकेली खड़ी थी और मुझसे कह रही थी कि मुझे आगे तक छोड़ दे। तभी मेरा ध्यान उस महिला के पैर पर पड़ा, जो कि उल्टे थे।

यह नजारा देख मैं बहुत डर गया और मुझे पक्का यकीन हो गया था कि यह कोई भूतिया डायन है। तभी मैंने अपनी मोटर साइकिल को तेज रफ्तार से भगाने लगा और मैंने डर के मारे पीछे मुड़कर देखा तो वह महिला उड़ते हुए मेरा पीछा कर रही है।

यह भयानक नजारा देख मेरे हाथ कांपने लगे और मैंने अपनी मोटरसाइकिल को फुल स्पीड में भगाने लगा। 5 मिनट बाद मैं बहुत दूर पहुंच गया था और मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो वह महिला नहीं थी। मैं घर पहुंचा और डर के मारे अपने कमरे में चला गया और सो गया।

दूसरे दिन तेज बुखार आ गया था और यह बुखार 4 दिन तक रहा। मैंने यह भूतिया घटना अपने घर वालों को बताया तभी मेरे पिताजी मुझे झाड़-फूंक वाले के पास ले गए और उन्होंने मुझे झाड़ दिया और मैं पहले जैसा ठीक हो गया।

आपको यह घटना कैसी लगी कमेंट में बताएं। यदि आपको यह कहानी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि इस तरह के और कहानियां आप पढ़ सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here