Top 5 Japanese Urban Legends In Hindi Part-1

0
419

जापान में इतनी डरावनी शहरी Urban legends हैं। देश में भूत के कहानियों का समृद्ध इतिहास है।इस सूची में जापान से कई भयानक कहानियां शामिल हैं जिनमें Kuchisake Onna,Aka Manto,Teke Teke,Hanako San,Red House जैसी कहानियां बहुत ही प्रचलित है।लेकिन जापान में सिर्फ डरावनी लोककथा नहीं है। बहुत सारे आधुनिक जापानी शहरी किंवदंतियों हैं जो बहुत डरावनी हैं।आप इन डरावनी शहरी किंवदंतियों का आनंद लें, और बहुत ज्यादा डरने की कोशिश न करें।

jaapaan men etni daraavni shahri Urban legends hain.Desh men bhut ke kahaaniyon kaa samriaddh etihaas hai.Ies suchi men jaapaan se kayi bhayaanak kahaaniyaan shaamil hain jinmen Kuchisake Onna,Aka Manto,Teke Teke,Hanako San,Red House jaisi kahaaniyaan bahut hi prachalit hai.lekin jaapaan men sirph daraavni lokakthaa nahin hai। bahut saare aadhunik jaapaani shahri kinvadantiyon hain jo bahut daraavni hain.Aap en daraavni shahri kinvadantiyon kaa aanand len, aur bahut jyaadaa darne ki koshish na karen.

Top 5 Japanese Urban Legends In Hindi Part-1
Top 5 Japanese Urban Legends In Hindi Part-1

1. कुचीसाके ओना (Kuchisake Onna)

कुचीसाके ओना जापान की गलियों में भटकने वाली  सर्जिकल मास्क पहनी हुई आत्मा है। जो बच्चों को अपना शिकार बनाती है।यह जिसे भी अपना शिकार बनाती है उससे पूछती है कि क्या मैं सुंदर हूं अगर कोई कहता है कि हां तुम सुंदर हो तो वह अपना सर्जिकल मास्क हटाते हुए दुबारा से पूछती है क्या मैं सुंदर हूं, उसके भयानक शक्ल (उसका मुंह बीच से कटी रहती थी)को देखकर अगर कोई कह दे कि नहीं तुम सुंदर नहीं हो तो वह उसको कैची से वही मार डालती है। सर्जिकल मास उतारने के बाद अगर कोई कह दे कि हां तुम सुंदर हो तब भी वह उस बच्चे के मुंह को कैंची से काट देती है, जिससे उस बच्चे की की वही मौत हो जाती है। जापान में 1970 के दशक में कुचीसाके ओना का दहशत इतना फैला हुआ था कि लोग अपने बच्चे को स्कूल तक नहीं भेजते थे।कुचीसाके ओना के बारे में रोज अखबार में कुछ ना कुछ घटनाएं छपती रहती थी, इसीलिए जापान सरकार ने कड़ी पुलिस फोर्स के साथ बच्चों को स्कूल ले जाने और स्कूल से घर पहुंचाने के लिए कड़ी व्यवस्था रहती थी।

कुचीसाके ओना की जो सबसे प्रसिद्ध कहानी है वह यान पीरियड की है जो आज से 800 से 1200 साल पहले की है, उस बात एक बहुत ही खूबसूरत लड़की हुआ करती थी जिसे अपनी सुंदरता पर बहुत ही घमंड था।कुचीसाके ओना अपने पति के साथ रहती थी परंतु उसी वक्त एक युद्ध हुआ जिससे उसके पति को युद्ध में जाना पड़ा, जब उसका पति घर लौटा तो उसने अपनी पत्नी को गैर मर्द के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखा।जिससे वह बहुत ही क्रोधित हो गया और अपने तलवार से अपनी पत्नी के मुंह को काट दिया और वहां से यह बोल कर निकला कि अब तुम्हें कौन सुंदर कहेगा।  कुछ समय बाद जब उसने अपने चेहरे को देखा तो वह अपना चेहरा देखकर बहुत ज्यादा ही डर गई और उसे अपना चेहरा सहन नहीं हुआ और वह वहां पड़ी कैची से ही अपने आप को मार दिया।

लेकिन जापान के लोगों का आज भी मानना है कि कुचीसाके ओना जापान की गलियों में भटकती है और बच्चों को अपना शिकार बनाती है।

kuchisaake onaa jaapaan ki galiyon men bhatakne vaali  sarjikal maask pahni hui aatmaa hai. jo bachchon ko apnaa shikaar banaati hai।yah jise bhi apnaa shikaar banaati hai usse puchhti hai ki kyaa main sundar hun agar koi kahtaa hai ki haan tum sundar ho to vah apnaa sarjikal maask hataate hua dubaaraa se puchhti hai kyaa main sundar hun, uske bhayaanak shakl (uskaa munh bich se kati rahti thi)ko dekhakar agar koi kah de ki nahin tum sundar nahin ho to vah usko kaichi se vahi maar daalti hai. sarjikal maas utaarne ke baad agar koi kah de ki haan tum sundar ho tab bhi vah us bachche ke munh ko kainchi se kaat deti hai, jisse us bachche ki ki vahi maut ho jaati hai.jaapaan men 1970 ke dashak men kuchisaake onaa kaa dahashat etnaa phailaa huaa thaa ki log apne bachche ko skul tak nahin bhejte the.kuchisaake onaa ke baare men roj akhbaar men kuchh naa kuchh ghatnaaan chhapti rahti thi, esilia jaapaan sarkaar ne kadi police force ke saath bachchon ko school le jaane aur school se ghar pahunchaane ke lia kadi vyavasthaa rahti thi.

kuchisaake onaa ki jo sabse prasiddh kahaani hai vah yaan piriyad ki hai jo aaj se 800 se 1200 saal pahle ki hai, us baat ek bahut hi khubsurat ladki huaa karti thi jise apni sundartaa par bahut hi ghamand thaa।kuchisaake onaa apne pati ke saath rahti thi parantu usi vakt ek yuddh huaa jisse uske pati ko yuddh men jaanaa padaa, jab uskaa pati ghar lautaa to usne apni patni ko gair mard ke saath aapattijanak sthiti men dekhaa.jisse vah bahut hi krodhit ho gayaa aur apne talvaar se apni patni ke munh ko kaat diyaa aur vahaan se yah bol kar niklaa ki ab tumhen kaun sundar kahegaa.  kuchh samay baad jab usne apne chehre ko dekhaa to vah apnaa chehraa dekhakar bahut jyaadaa hi dar gayi aur use apnaa chehraa sahan nahin huaa aur vah vahaan padi kaichi se hi apne aap ko maar diyaa.

lekin jaapaan ke logon kaa aaj bhi maannaa hai ki kuchisaake onaa jaapaan ki galiyon men bhatakti hai aur bachchon ko apnaa shikaar banaati hai.

2. अका मंटो (Aka Manto)

अका मंटो का अंग्रेजी में मतलब होता है रेड कैपे। जिसका हिंदी में मतलब होता है लाल कंधे का वस्त्र। जापान में 1980 के दशक में एक बहुत ही खूबसूरत नौजवान रहता था जिसको पब्लिक टॉयलेट में बहुत ही बेरहमी से कत्ल दिया गया और जिस ने कत्ल किया उस मुजरिम को पकड़ा नहीं जा सका।कुछ लोगों का कहना है कि जापान के पब्लिक टॉयलेट में अका मंटो लोगों की जान लेता है। जो लोग अका मंटो के चंगुल से बचे हैं उनका कहना है कि एक आत्मा लाल कैपे पहने हुए और मुंह पर एक सुनहरा मास्क पहने हुए लोगों से पूछता है कि आपको लाल  कैपे चाहिए कि नीला कैपे, अगर कोई कह दे कि लाल कैपे तो वह आत्मा उस आदमी की चमड़ी उधेड़ देता है जिससे उसका शरीर  पूरा लहूलुहान हो जाता है, अगर कोई कह दे की नीला कैपे तो वह उसकी गर्दन को काट देता है जिससे पूरा खून बहने के बाद उसका शरीर नीला हो जाता है।अगर कोई पीला  कैपे कह दे तो वह उसे टॉयलेट के कमोड में घुसा देता है जिससे उस पर पीला चीज लग जाता है और वह बच जाता है। कुछ लोगों का तो यह भी कहना है कि अका मंटो उनसे यह पूछता है कि  लाल पेपर चाहिए कि नीला पेपर। इस सवाल पर अगर कोई कह दे की लाल पेपर तो वह उसे लहूलुहान कर देता है, अगर कोई नीला पेपर कह दे तो वह उसका गला दबा देता है जिससे उसका शरीर पूरा नीला हो जाता है, अगर कोई अपनी चालाकी दिखाते हुए कोई दूसरा जवाब देता है तो वह उसे उसे नर्क के उस अंधेरे कोने में ले कर चला जाता जहां से वापस लौटना किसी के बस की बात नहीं होती है, अगर कोई कह दे कि पीला पेपर तो वह उसे टॉयलेट के कमोड मैं उसका सिर डाल देता जिससे उसके चेहरे पर पीला पदार्थ लग जाता है जिससे वह उसे छोड़ देता है ताकि वह यह घटना को किसी और को बता सकें।

akaa manto kaa angreji men matalab hotaa hai red kaipe. jiskaa hindi men matalab hotaa hai laal kandhe kaa vastr.jaapaan men 1980 ke dashak men ek bahut hi khubsurat naujvaan rahtaa thaa jisko pablik taylet men bahut hi berahmi se katl diyaa gayaa aur jis ne katl kiyaa us mujarim ko pakadaa nahin jaa sakaa।kuchh logon kaa kahnaa hai ki jaapaan ke pablik taylet men akaa manto logon ki jaan letaa hai। jo log akaa manto ke changul se bache hain unkaa kahnaa hai ki ek aatmaa laal kaipe pahne hua aur munh par ek sunahraa maask pahne hua logon se puchhtaa hai ki aapko laal  kaipe chaahia ki nilaa kaipe, agar koi kah de ki laal kaipe to vah aatmaa us aadmi ki chamadi udhed detaa hai jisse uskaa sharir  puraa lahuluhaan ho jaataa hai, agar koi kah de ki nilaa kaipe to vah uski gardan ko kaat detaa hai jisse puraa khun bahne ke baad uskaa sharir nilaa ho jaataa hai।agar koi pilaa  kaipe kah de to vah use taylet ke kamod men ghusaa detaa hai jisse us par pilaa chij lag jaataa hai aur vah bach jaataa hai। kuchh logon kaa to yah bhi kahnaa hai ki akaa manto unse yah puchhtaa hai ki  laal pepar chaahia ki nilaa pepar. es savaal par agar koi kah de ki laal pepar to vah use lahuluhaan kar detaa hai, agar koi nilaa pepar kah de to vah uskaa galaa dabaa detaa hai jisse uskaa sharir puraa nilaa ho jaataa hai, agar koi apni chaalaaki dikhaate hua koi dusraa javaab detaa hai to vah use use nark ke us andhere kone men le kar chalaa jaataa jahaan se vaapas lautnaa kisi ke bas ki baat nahin hoti hai, agar koi kah de ki pilaa pepar to vah use taylet ke kamod main uskaa sir daal detaa jisse uske chehre par pilaa padaarth lag jaataa hai jisse vah use chhod detaa hai taaki vah yah ghatnaa ko kisi aur ko bataa saken.

Read More: Carmen Winstead Ki Aatma

3. टेके टेके (Teke Teke)

जापान के होक्काइडो शहर में एक लड़की रहती थी जिसका नाम काशीमा रैको था।वह इतनी भोली थी कि उसके दोस्तों ने उसके साथ एक मजाक किया था, जब वह ट्रेन स्टेशन पर पहुंची तो उसके दोस्तों ने उसके ऊपर एक कीड़ा रख दिया था जब उसको इस बात का पता चला तो वह बहुत जोर से चीखने लगी। वह इतनी डर गई कि वह चिल्लाते – चिल्लाते ट्रेन की पटरियों  पर चली गई और तेज गति ट्रेन की चपेट में आते ही उसके शरीर के दो टुकड़े हो गए, जिससे काशीमा रैको  की मौत हो गई।उसके दोस्त उसे वहीं मृत छोड़कर भाग गए। इस घटना के कुछ सालों बाद दो हाथों से चलने वाली औरतों को देखा गया और उसके चलने पर टेके टेके की आवाज आती है। जो लोग टेके टेके के चंगुल से बचने में कामयाब रहे उन्होंने बताया कि एक रात वह आखरी ट्रेन का आने का इंतजार कर रहे थे कि तभी दो हाथों से चलने वाली एक औरत उनके नजदीक आ रही थी और उनसे डरावनी आवाज में पूछ रही थी कि उसके पैर कहां है यह नजारा देख सभी लोग वहां से डर कर भाग गए पर एक आदमी को उसने पकड़ लिया और अगली सुबह उसकी लाश मिली जो रेल की पटरियों पर दो हिस्सों में पड़ी थी।आज भी जापान के ट्रेन स्टेशनों पर लोगों की लाश मिलती रहती है।

jaapaan ke hokkaaedo shahar men ek ladki rahti thi jiskaa naam kaashimaa raiko thaa.vah etni bholi thi ki uske doston ne uske saath ek majaak kiyaa thaa, jab vah train station par pahunchi to uske doston ne uske upar ek kidaa rakh diyaa thaa jab usko es baat kaa pataa chalaa to vah bahut jor se chikhne lagi. vah etni dar gayi ki vah chillaate – chillaate train ki patariyon  par chali gayi aur tej gati tren ki chapet men aate hi uske sharir ke do tukade ho gaye, jisse kaashimaa raiko  ki maut ho gayi।uske dost use vahin mara huyw chhodakar bhaag gaye. es ghatnaa ke kuchh saalon baad do haathon se chalne vaali aurton ko dekhaa gayaa aur uske chalne par teke teke ki aavaaj aati hai.jo log teke teke ke changul se bachne men kaamyaab rahe unhonne bataayaa ki ek raat vah aakhri tren kaa aane kaa entjaar kar rahe the ki tabhi do haathon se chalne vaali ek aurat unke najdik aa rahi thi aur unse daraavni aavaaj men puchh rahi thi ki uske pair kahaan hai yah najaaraa dekh sabhi log vahaan se dar kar bhaag gaye par ek aadmi ko usne pakad liyaa aur agli subah uski laash mili jo rel ki patariyon par do hisson men padi thi।aaj bhi jaapaan ke train station par logon ki laash milti rahti hai.

4. हानाको सान (Hanako San)

जापान में 1950 के द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद गरीबी छाई हुई थी और उन्हीं गरीब परिवारों में से ताल्लुक रखने वाली एक छोटी सी लड़की जिसका नाम हानाको सान था।जिसको स्कूल की लड़कियां बहुत ही परेशान करती थी और एक दिन वह परेशान होकर टॉयलेट के अंदर चली गई और अंदर से बंद कर दिया।उन लड़कियों ने भी हानाको सान को बाहर से बंद कर दिया फिर टॉयलेट की साफ सफाई करने वाले को टॉयलेट के अंदर एक लाश मिली  जो कि हानाको सान की थी। उस घटना के 20 साल बाद जापान के गर्ल्स टॉयलेट में रोज 1 लास मिलती रहती मिलती रहती थी और  स्कूल के बच्चे टॉयलेट जाने से कतराते थे। इन घटनाओं के घटने से बहुत सारी छानबीन की गई पर कोई भी सबूत हाथ नहीं लग पाया।कुछ स्कूल की लड़कियां हानाको सान को बुलाने के लिए एक गेम खेलती है जिसमें टॉयलेट के पास जाकर उन्हें तीन बार कहना होता है कि हानाको सान तुम अंदर हो तभी टॉयलेट के अंदर से जवाब आती है हां मैं अंदर हूं। जब कोई हानाको सान से मिलता है अगर वह लड़की अच्छी होती है तो हानाको सान उसके बुरे वक्त में भी उसकी सहायता करती है और अगर कोई लड़की बुरी होती है तो वह  उसे उसी वक्त मार डालती है।

jaapaan men 1950 ke ditiya vishvayuddh ke baad garibi chhaai hui thi aur unhin garib parivaaron men se taalluk rakhne vaali ek chhoti si ladki jiskaa naam haanaako saan thaa.jisko skul ki ladakiyaan bahut hi pareshaan karti thi aur ek din vah pareshaan hokar taylet ke andar chali gayi aur andar se band kar diyaa।un ladakiyon ne bhi haanaako saan ko baahar se band kar diyaa phir taylet ki saaph saphaai karne vaale ko taylet ke andar ek laash mili jo ki haanaako saan ki thi। us ghatnaa ke 20 saal baad jaapaan ke garls taylet men roj 1 laas milti rahti milti rahti thi aur skul ke bachche taylet jaane se katraate the. Inn ghatnaaon ke ghatne se bahut saari chhaanbin ki gayi par koi bhi sabut haath nahin lag paayaa.kuchh school ki ladakiyaan haanaako saan ko bulaane ke lia ek gem khelti hai jismen taylet ke paas jaakar unhen tin baar kahnaa hotaa hai ki haanaako saan tum andar ho tabhi taylet ke andar se javaab aati hai haan main andar hun. jab koi haanaako saan se miltaa hai agar vah ladki achchhi hoti hai to haanaako saan uske bure vakt men bhi uski sahaaytaa karti hai aur agar koi ladki buri hoti hai to vah use usi vakt maar daalti hai.

5. लाल कमरा (The Red Room)

रेड रूम एक पॉप-अप के बारे में एक डरावनी जापानी शहरी किंवदंती है जो तब दिखाई देता है जब आप इंटरनेट सर्फ कर रहे हों। वे कहते हैं कि यदि आप इसे बंद करते हैं, तो आप मर जाएंगे।

एक लड़का था जो इंटरनेट का इस्तेमाल करता था। उन्होंने स्कूल में अपने दोस्तों में से एक से रेड रूम के बारे में एक एक कहानी सुनी। उस शाम, जब लड़का घर आया, तो वह इंटरनेट पर सर्च करने लगा रेड रूम के बारे में ताकि वह यह देख सके कि क्या वह इसके बारे में कुछ और जाना जा सके।

अचानक, एक छोटी सी  pop up मैसेज एक लाल background के साथ दिखा। काले रंग में लिखा, संदेश था, “क्या आपको पसंद है?”

लड़के ने pop up cut कर दी, लेकिन यह फिर से pop up  फिर से आ गया। उन्होंने इसे बंद करने के लिए कई बार कोशिश की लेकिन यह फिर से आ रहा था। आखिरकार, लड़के ने देखा कि सवाल बदल गया था। अब, यह पढ़ता है: “क्या आपको लाल कमरा पसंद है?” और background में, एक बच्चे की आवाज़ ने कहा, “क्या आपको लाल कमरा पसंद है?”

बस तब, स्क्रीन काला हो गई और नामों की एक सूची लाल रंग में दिखाई दी। सूची के नीचे, लड़के ने अपने दोस्त का नाम देखा … वह दोस्त जिसने उसे  red room के बारे में बताया।अचानक उस लड़के ने अपना होश खो बैठा।

अगले दिन, लड़का स्कूल नहीं गया था। उसके बारे में एक अफवाह थी कि उसके साथ कुछ हुआ था। अगले दिन, उसके सहपाठियों ने भयानक  जानकारी मिली।लड़के ने आत्महत्या कर ली थी आर अपने कमरे को  अपने खून से लाल रंग कर दिया था।

red room ek pop-up ke baare men ek daraavni jaapaani shahri kinvadanti hai jo tab dikhaai detaa hai jab aap entarnet sarph kar rahe hon. ve kahte hain ki yadi aap ese band karte hain, to aap mar jaaange.

ek ladkaa thaa jo internet kaa estemaal kartaa thaa. unhonne school men apne doston men se ek se red room ke baare men ek ek kahaani suni. us shaam, jab ladkaa ghar aayaa, to vah internet par sarch karne lagaa red room ke baare men taaki vah yah dekh sake ki kyaa vah eske baare men kuchh aur jaanaa jaa sake.

achaanak, ek chhoti si  pop up message ek laal background ke saath dikhaa. kaale rang men likhaa, sandesh thaa, “kyaa aapko pasand hai?”

ladke ne pop up cut kar di, lekin yah phir sepop up   phir se aa gayaa. unhonne ese band karne ke lia kayi baar koshish ki lekin yah phir se aa rahaa thaa। aakhirkaar, ladke ne dekhaa ki savaal badal gayaa thaa.ab, yah padhtaa hai: “kyaa aapko laal kamraa pasand hai?” aur background men, ek bachche ki aavaaj ne kahaa, “kyaa aapko laal kamraa pasand hai?”

bas tab, skrin kaalaa ho gayi aur naamon ki ek suchi laal rang men dikhaai di। suchi ke niche, ladke ne apne dost kaa naam dekhaa … vah dost jisne use  red room ke baare men bataayaa.Achaanak us ladke ne apnaa hosh kho baithaa.

agle din, ladkaa school nahin gayaa thaa. uske baare men ek aphvaah thi ki uske saath kuchh huaa thaa। agle din, uske sahpaathiyon ne bhayaanak  jaankaari mili. ladke ne aatmahatyaa kar li thi aar apne kamre ko  apne khun se laal rang kar diyaa thaa.

Agar apko story pasand aaye toh share jarur Kare.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here