एक अच्छे भूत की सच्ची कहानी

मेरा नाम विकास है और मैं एक मध्यम वर्ग परिवार से हूं कुछ समय पहले मेरे साथ एक भूतिया घटना घटी और उस घटना का अहसास जब मैंने किया तो वह मेरे लिए अविष्वासनीय और बहुत ही भयानक था तो चलिए मैं अपनी Horror Story या यूं कहें Bhoot Ki Kahani की शूरूवात करते हैं।

Ek Good Ghost Ki True Kahani

इस घटना की शूरूवात मेरे साथ दो वर्ष पहले हुई। मैं अपने कॉलेज गया था और कॉलेज से घर आते वक्त एक लड़का मेरे पास आया और कहने लगा कि मुझे 20 रुपये की बहुत आवश्यक्ता है कृपया आप मुझे दे सकते है मैं आपको यह रुपया कल इसी वक्त लौटा दूंगा। मैंने सोचा कि चलो 20 रुपये ही तो है और इस लड़के को शायद काफी जरूरत होगी इसलिए किसी दूसरे से 20 रुपये ना मांग कर मुझसे मांग रहा है।

मैंने बीना कुछ पुछे उसे 20 रुपये दे दिया और घर आह गया और दूसरे दिन कॉलेज से आते वक्त वही लड़का मुझे मिला और मुझे धन्यावाद कहते हुए मुझे 20 रुपये दे दिया। मैंने उस लड़के से उसका नाम पूछा तो उसने कहा कि उसका नाम राजेश है और मैंने अपना नाम विकास बताया। फिर मैंने पूछा आपको कल 20 रुपये की इतनी जरूरत क्यों पड़ गई, तभी राजेश ने कहा मैं एक बूढ़ी अम्मा को दवाई खरीदनी थी और वह दवाई उसको उसी दिन चाहिए थी इसलिए उसने मुझसे मदद मांगी और मैने आपसे मदद मांगी।

मैंने राजेश को कहा तुम तो बहुत ही अच्छे इंसान हो और तुमने बीना किसी के जान पहचान के उस बूढ़ी अम्मा की मदद की तब राजेश ने कहा आपने भी तो बिना कुछ जाने मेरी मदद की है और आप भी अच्छे इंसान है।

उस दिन राजेश मुझसे कहा कि आपको मेरी एक और मदद करनी होगी तो आप मेरे साथ एक जगह चलो मैंने कहा कि किधर जाना है तो राजेश ने बोला कि सामने पहाड़ पर तो मैंने कहा चलो और हम दोनों उस पहाड़ पर चले गए।

पहाड़ पर जाते ही उसने मुझे कहा कि बस तुम्हे मेरे साथ मेरे घर चलना है तब मैं उसके घर पहुँच गया तब मैंने देखा कि उस घर में एक छोटा-सा परिवार रहता है और उस घर पर पहुचते ही मैंने सबको नमस्ते कहा और मैंने देखा राजेश कही दिख नही रहा है। मैंने उस घर में देखा एक फोटो में माला चढ़ी हुई है और वह फ़ोटो राजेश की थी यह देख कर मैं shocked हो गया। मैं उस घर से फ़ौरन निकल और मुझे रास्ते में राजेश दिखा मैंने राजेश को कहा तुमने मेरे साथ कितना बेहूदा मज़ाक किया और तुम मुझे तुम्हारे घर पर ले गए और खुद क्यों नहीं आए तब राजेश ने कहा मैं जिंदा नही हु, मैंने कहा मजाक मत कर।

तभी राजेश ने कहा मैं सच कह रहा हूँ और वह अचानक से एक डरावने चेहरे वाले इंसान में बदल गया मैं यह सब देख कर डर गया और वहाँ से भागने लगा तब उसने कहा दोस्त मुझे छोड़ कर मत जाओ मेरी मदद करो। मैं तो सीधा वहाँ से घर पहुँच गया। घर पहुँचते ही मैं सो गया और मैं जैसे ही उठा तब राजेश मेरे सामने बैठा था उसने मुझसे कहा कृपया मेरी मदद करो मैं तुमसे मदद की भिक मांगता हूं। मैंने राजेश से कहा तुम भूत हो और मैं तुम्हारा क्या मदद करूँगा, मुझे तुमसे डर भी लग रहा है।

राजेश ने कहा डरो मत मैं तुम्हे नुकसान नही पहुँचाऊँगा। मैंने डरते हुए राजेश से पुछा क्या करना है बताओ। राजेश ने मुझसे कहा कि मैं तुम्हे सारी बात बताता हूं। 8 महीने पहले मेरी मौत road accident में हुआ था और तब से मेरी आत्मा भटक रही है। कृपया तुम मेरी अधूरी इच्छा पूरा कर दो तब मैंने कहा क्या बताओ।

राजेश ने कहा तुम हर रविवार को एक बूढ़ी औरत को दवाई खरीदने और देखभाल करने में मदद करना तो मैंने कहा किस बूढ़ी औरत की मदद करनी है।

राजेश ने कहा जिसको तुमने 20 रुपये की दवाई खरीदने में मदद की मैंने कहा ठीक है कर दूंगा। राजेश ने मुझे उस बूढ़ी औरत से मिलाया और कहा यह मेरी दादी हैं। मैंने राजेश की परेशानी को समझा और उसकी मदद भी की, मैंने उस बूढ़ी अम्मा की दवाई खरीदने और देखभाल भी किया और उस बूढ़ी अम्मा को मुझमे राजेश दिखता था और मुझे राजेश ही कह कर बुलाती थी। कुछ समय पहले वह बूढ़ी दादी गुजर गई और राजेश की आत्मा को भी शांति मिल गई।

राजेश की याद जब भी आती है तब मेरे आंखों में आंसू आह जाते है और सोचता हूं भगवान भी अच्छे लोगो जो जल्द ही अपने पास बुला लेता है।

यह थी मेरी Horror Story या Bhoot Ki Kahani जो मेरे साथ घटित हुआ। आशा करता हूं आप सबको पसंद आया होगा।

यदि भूत की कहानी पसन्द आए तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
error: Content is protected !!